Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

12988 - बारह नौ सौ अठासी , इसके नखरे हैं नवाबी ! - Keshav Saxena

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Tue Sep 21 19:50:59 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search
Page#    438085 news entries  next>>
Today (19:33) रेल फाटक तोड़ने की तेरह घटनाएं, कोर्ट ने किया ढाई लाख का जुर्माना (www.naidunia.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
391 views

News Entry# 465449  Blog Entry# 5071655   
  Past Edits
Sep 21 2021 (19:33)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Itarsi Junction/ET  
इटारसी नवदुनिया प्रतिनिधि।
सख्त नसीहत होने के बावजूद कई वाहन चालक रेलवे के बंद फाटक के बूम को तोड़कर रेल संपत्ति को नुकसान पहुंचाते हैं। भोपाल मंडल में ऐसे 13 मामले आरपीएफ ने दर्ज किए हैं, जिनमें से 7 मामलों में न्यायालय ने ढाई लाख रुपये का जुर्माना किया है। भोपाल मंडल में समपार फाटकों पर बूम क्षतिग्रस्त होने की घटनाओं को नियंत्रित करने के लिए मंडल रेल प्रबन्धक सौरभ बंदोपाध्याय के मार्गदर्शन में मंडल सुरक्षा आयुक्त बी राम कृष्णा के नेतृत्व में रेल सुरक्षा बल द्वारा पंपलेट बांटे जा रहे हैं।स्थानीय लोगों, वाहन चालकों को समपार फाटक पार करते समय सावधानियां बरतने व रेल नियमों का पालन करने के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत लेवल
...
more...
क्रासिंग से गुजरने वाले वाहन चालकों को समझाइश दी जा रही है। जागरूकता लाने के लिए संरक्षा संबंधी नियमों के पर्चे बांटे जा रहे हैं। कुछ वाहन चालकों द्वारा लापरवाही पूर्वक बन्द फाटक के बूम को तोड़कर फाटक पार करने का प्रयास किया जाता है। माह जनवरी 2021 से 19 सितंबर 2021 तक सड़क वाहन चालकों द्वारा समपार फाटकों के बूम क्षतिग्रस्त कर रेल संपत्ति का नुकसान करने के मामलों में रेल सुरक्षा बल भोपाल मंडल द्वारा वैधानिक कार्यवाही करते हुए रेल अधिनियम की धारा 160, 154 के अंतर्गत कुल 13 मामले दर्ज किये गए, जिनमें से न्यायालय द्वारा 7 मामलों का निपटारा करते हुए वाहन चालकों पर ढाई लाख रुपये का जुर्माना किया गया। 03 मामले न्यायालय एवं आरपीएफ में लंबित हैं।
वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबन्धक विजय प्रकाश ने बताया कि रेल सुरक्षा बल द्वारा लेवल क्रासिंग गेट को बंद-खोलते समय बूम क्षतिग्रस्त होने की स्थिति में रेल अधिनियम की धारा 154 के तहत एवं बंद गेट को क्षतिग्रस्त करने की स्थिति में रेल अधिनियम की धारा 160 के तहत मामला दर्ज किया जाता है। आरपीएफ द्वारा समपार फाटकों की घटनाओं को नियंत्रित करने के लिए वैधानिक कार्यवाही कर एवं जागरूकता अभियान चलाकर नियंत्रित करने का अभियान चल रहा है। मंडल में मानव रहित सभी फाटकों को समाप्त कर दिया गया है, मानव सहित फाटकों में बिजी ट्रेफिक वाले फाटकों को भी खत्म किया जा रहा है।
Today (07:51) Theni-Chennai direct train proposed (www.newindianexpress.com)
New/Special Trains
SR/Southern
0 Followers
4417 views

News Entry# 465386  Blog Entry# 5071175   
  Past Edits
Sep 21 2021 (07:51)
Station Tag: Bodinayakkanur/BDNK added by TC4D/1912644

Sep 21 2021 (07:51)
Station Tag: MGR Chennai Central/MAS added by TC4D/1912644

Sep 21 2021 (07:51)
Station Tag: Teni/TENI added by TC4D/1912644
CHENNAI:  With the Madurai-Theni-Bodinayakanur gauge conversion works entering its final stage, the Southern Railway has proposed to extend the Chennai Central-Madurai AC Superfast Express up to Bodinayakanur. So, if all goes as planned, people of Theni district would get their first direct train to Chennai before May next year.
Two trains — AC tri-weekly express from Chennai Central to Bodinayakanur and a daily passenger train between Madurai and Bodinayakanur — were proposed to be introduced in the new Broad Gauge (BG) line by the Southern Railway, revealed an official document, a copy of which is available with TNIE.
The
...
more...
Madurai – Bodi line came into existence as a narrow gauge in 1928 and it was converted into a meter gauge in 1953-54. After being in operation for more than 50 years, the MG line was dismantled for conversion into BG line on December 31, 2010. Since the commissioning of the line, no direct passenger train was operated to Chennai from Theni.
The gauge-conversion work was initially planned to be completed within 18 months, but remained idle for seven years due to a fund crunch. As a result, the estimated cost of the project rose from Rs 180 crore to Rs 272 crore between 2010 and 2015.
The single 58 km BG line between Madurai and Andipatti was completed last year and recently cleared for operation. After completion of the 17 km conversion work between Andipatti and Theni, two trials with high speed engines were conducted by the Commissioner of Railway Safety (CRS). The last leg of the 15 km line between Theni and Bodi is expected to get completed before April next year.
A senior railway official said trains will be introduced upon the railway board’s approval. “However, no deadline was fixed due to Covid-19 restrictions,” the official added. SP Jayaprakasam, former president of TN Food Grainers Merchants Association, said, “After the MG line was converted between Dindigul and Palani, the Railways introduced a new daily express train between Chennai and Palani. Likewise, we wanted a new train for Theni district.”
नई दिल्ली, एएनआइ। कैबिनेट सचिवालय ने रेल मंत्रालय को विभिन्न सिफारिशों पर अमल करने के निर्देश दिए हैं जिनमें विभिन्न रेलवे भर्ती बोर्डो का नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के तहत एकीकरण और रेलवे के विभिन्न संस्थानों का आपस में विलय शामिल है। ये सिफारिशें वित्त मंत्रालय के मुख्य आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल की रेल मंत्रालय के तहत सरकारी निकायों को युक्तिसंगत बनाने संबंधी एक रिपोर्ट का हिस्सा हैं। रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह रिपोर्ट पिछले हफ्ते ही उन्हें सौंपी गई थी और इसे अब सभी बड़े विभागों को विचार के लिए भेजा गया है। उन्होंने कहा कि इन सिफारिशों को रेलवे बोर्ड के सभी सदस्यों और संबंधित संस्थानों या विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा की आवश्यकता है। प्रस्ताव व्यापक हैं और केवल रेलवे के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि इसमें सभी 125 रेलवे अस्पतालों को अपग्रेड करने, रेलवे स्कूलों को...
more...
केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) के तहत लाने की भी बात कही गई है। इस कदम से स्कूलों को चलाने में रेलवे प्रबंधन के समय में कमी आएगी।  ईसाई मिशनरी ने कर्नाटक में भाजपा विधायक की मां का मतांतरण कराया, पूर्व मंत्री ने कार्रवाई की मांग की यह भी पढ़ें प्रमुख सिफारिशें :- सभी रेलवे भर्ती बोर्डो का नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के तहत एकीकरण किया जाए। सेंटर फार रेलवे इन्फारमेशन सिस्टम्स (क्रिस) को बंद करके आइआरसीटीसी को इसके सभी काम सौंप दिए जाएं। रेलटेल का आइआरसीटीसी में विलय कर दिया जाए। रेल विकास निगम लिमिटेड का इंडियन रेलवे कंस्ट्रक्शन लिमिटेड में विलय कर दिया जाए। ब्रेथवेट एंड कंपनी लिमिटेड का रेल इंडिया टेक्नीकल एंड इकोनामिक सर्विस (राइट्स) अधिग्रहण करे। रेलवे स्कूलों के संचालन में रेल प्रबंधन को काफी समय देना पड़ता है। इन स्कूलों को केंद्रीय विद्यालय संगठन के तहत लाया जाए। रेलवे अस्पतालों और स्वास्थ्य इकाइयों को संस्थागत तंत्र के जरिये अपग्रेड किया जाए। इंडियन रेलवे वेलफेयर आर्गनाइजेशन में रेलवे बोर्ड और रेल मंत्रालय अपनी सीधी भागीदारी बंद करें। इंडियन रेलवे आर्गनाइजेशन आफ अल्टरनेट फ्यूल, सेंट्रल आर्गनाइजेशन फार माडर्नाइजेशन आफ वर्कशाप्स और सेंट्रल आर्गनाइजेशन फार रेलवे इलेक्ट्रीफिकेशन की अब जरूरत । Edited By: Tanisk



नई दिल्ली, एएनआइ। कैबिनेट सचिवालय ने रेल मंत्रालय को विभिन्न सिफारिशों पर अमल करने के निर्देश दिए हैं जिनमें विभिन्न रेलवे भर्ती बोर्डो का नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के तहत एकीकरण और रेलवे के विभिन्न संस्थानों का आपस में विलय शामिल है। ये सिफारिशें वित्त मंत्रालय के मुख्य आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल की रेल मंत्रालय के तहत सरकारी निकायों को युक्तिसंगत बनाने संबंधी एक रिपोर्ट का हिस्सा हैं।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह रिपोर्ट पिछले हफ्ते ही उन्हें सौंपी गई थी और इसे अब सभी बड़े विभागों को विचार के लिए भेजा गया है। उन्होंने कहा कि इन सिफारिशों को रेलवे बोर्ड के सभी सदस्यों और संबंधित संस्थानों या विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा की आवश्यकता है। प्रस्ताव व्यापक हैं और केवल रेलवे के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि इसमें सभी 125 रेलवे अस्पतालों को अपग्रेड करने, रेलवे स्कूलों को केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) के तहत लाने की भी बात कही गई है। इस कदम से स्कूलों को चलाने में रेलवे प्रबंधन के समय में कमी आएगी। 



प्रमुख सिफारिशें :-


सभी रेलवे भर्ती बोर्डो का नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के तहत एकीकरण किया जाए। सेंटर फार रेलवे इन्फारमेशन सिस्टम्स (क्रिस) को बंद करके आइआरसीटीसी को इसके सभी काम सौंप दिए जाएं। रेलटेल का आइआरसीटीसी में विलय कर दिया जाए। रेल विकास निगम लिमिटेड का इंडियन रेलवे कंस्ट्रक्शन लिमिटेड में विलय कर दिया जाए। ब्रेथवेट एंड कंपनी लिमिटेड का रेल इंडिया टेक्नीकल एंड इकोनामिक सर्विस (राइट्स) अधिग्रहण करे। रेलवे स्कूलों के संचालन में रेल प्रबंधन को काफी समय देना पड़ता है। इन स्कूलों को केंद्रीय विद्यालय संगठन के तहत लाया जाए। रेलवे अस्पतालों और स्वास्थ्य इकाइयों को संस्थागत तंत्र के जरिये अपग्रेड किया जाए। इंडियन रेलवे वेलफेयर आर्गनाइजेशन में रेलवे बोर्ड और रेल मंत्रालय अपनी सीधी भागीदारी बंद करें। इंडियन रेलवे आर्गनाइजेशन आफ अल्टरनेट फ्यूल, सेंट्रल आर्गनाइजेशन फार माडर्नाइजेशन आफ वर्कशाप्स और सेंट्रल आर्गनाइजेशन फार रेलवे इलेक्ट्रीफिकेशन की अब जरूरत नहीं।
नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन तक मेट्रो परिचालन शुरू होने के बाद स्थानीय लोगों के चेहरे पर खुशी साफ-साफ दिखाई दे रही है। साथ ही मेट्रो स्टेशन पर की गई चित्रकारी लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह चित्रकारी आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। यहां की दीवारों पर ग्रामीण परिवेश को उकेरा गया है, जिस कारण स्थानीय लोगों के दिल के करीब यह मेट्रो स्टेशन आ चुका है। मेट्रो स्टेशन पर उतरने के बाद लोग दीवारों को निहारते हुए निकास द्वार की तरफ जाते हैं। कई लोग तो रुक कर वहां फोटो खींचने से अपने को रोक नहीं पाते हैं।

डीएमआरसी
...
more...
के आर्किटेक्चर विभाग ने किया है तैयार

ज्ञात हो कि मेट्रो स्टेशन की दीवारों को स्थानीय विरासत, वनस्पतियों व जीव-जंतुओं की आकर्षक कलाकृतियों तथा फोटोग्राफ से सुसज्जित किया गया है। इन कलाकृतियों को युवा कलाकारों तथा फोटोग्राफर से प्राप्त कर डीएमआरसी के आर्किटेक्चर विभाग द्वारा बड़ी कुशलता से तैयार कराया गया है। स्थानीय निवासी अमित ने बताया कि यहां आने के बाद ग्रामीण विरासत के महत्व के बारे में पता चलता है। नजफगढ़ झील के आसपास की सुंदरता को यहां पर दर्शाया गया है। हरियाली के बीच पक्षी का चित्र सबसे ज्यादा भा रहा है।

मीनाक्षी ने बताया कि स्टेशन की सुंदरता हमें सेल्फी लेने के लिए मजबूर करती है। यहां पर एक किसान का चित्र बनाया गया है। स्टेशन पर लगाए गए शीशे के पैनलों पर पिंट्र किए गए फोटोग्राफ इस क्षेत्र की समृद्ध विविधता को दर्शाते हैं। एक कलाकृति में दिखाया गया है कि कुछ निवासी अपने सामाजिक मूल्यों और आने वाली जीवनशैली के साथ कदमताल मिलाते दिख रहे हैं। मतलब यहां की एक-एक तस्वीर हमें शिक्षा दे रही है।
नई द‍िल्‍ली. राजस्थान (Rajasthan) में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन क‍िया जा रहा है. इसको लेकर रेलवे (Railways) की ओर से परीक्षार्थियों की सुविधा और यात्री यातायात को देखते हुए 10 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों में अस्‍थाई तौर पर अत‍िर‍िक्‍त कोच जोड़े जाने का फैसला क‍िया गया है. यह सभी ट्रेनें द‍िल्‍ली, राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश और महाराष्‍ट्र के बीच संचाल‍ित की जा रही हैं. इन सभी में अत‍िर‍िक्‍त कोच जुड़ने से जहां परीक्षार्थियों को तो फायदा होगा. साथ ही यात्र‍ियों को भी अत‍िर‍िक्‍त बर्थ इन ट्रेनों में उपलब्‍ध हो सकेंगी.उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण के अनुसार के मुताब‍िक 10 जोड़ी ट्रेनों में कोच जोड़े जाने का न‍िर्णय प्रत‍ियोगी परीक्षार्थियों की सुविधा के साथ-साथ यात्री यातायात के मद्देनजर ल‍िया गया है. ज‍िन ट्रेनों में यह अत‍िरिक्‍त कोच जोड़े जा रहे हैं उनमें यह ट्रेनें निम्‍न प्रकार से हैं :-ये भी पढ़ें: Indian Railways: इन पांच जोड़ी स्‍पेशल ट्रेनों...
more...
में अत‍िर‍िक्‍त कोच जोड़ने से यात्रियों को म‍िलेंगी ज्‍यादा बर्थ, चेक करें डिटेल 1. ट्रेन संख्या 02478/02477, जयपुर-जोधपुर-जयपुर स्पेशल में 25 से 28 स‍ितंबर तक 02 द्वितीय साधारण श्रेणी कोचों की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.2. ट्रेन संख्या 02459/02460, जोधपुर-इंदौर-जोधपुर स्पेशल रेलसेवा में जोधपुर से 25 व 26 स‍ितंबर को एवं इंदौर से 26 स‍ितंबर व 27 स‍ितंबर को 02 द्वितीय साधारण श्रेणी कोचों की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.3. ट्रेन संख्या 04801/04802, जोधपुर-इंदौर-जोधपुर स्पेशल रेलसेवा में जोधपुर से 26 स‍ितंबर को एवं इंदौर से 27 स‍ितंबर को 02 द्वितीय साधारण श्रेणी कोचों की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.4. ट्रेन संख्या 02487/02488, बीकानेर-दिल्ली सराय रोहिल्ला- बीकानेर स्पेशल में बीकानेर से 24 स‍ितंबर को एवं दिल्ली सराय रोहिल्ला से 26 स‍ितंबर को 01 द्वितीय शयनयान श्रेणी कोच की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.ये भी पढ़ें: Indian Railways: ये 32 ट्रेनें रहेंगी कैंस‍िल, डायवर्ट और शॉर्ट टर्मि‍नेट, जानें सबकुछ5. ट्रेन संख्या 02993/02994, दिल्ली सराय रोहिल्ला-उदयपुर सिटी- दिल्ली सराय रोहिल्ला स्पेशल में दिल्ली सराय रोहिल्ला से 24 स‍ितंबर को एवं उदयपुर सिटी से 25 स‍ितंबर को 01 द्वितीय शयनयान श्रेणी कोच की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.6. ट्रेन संख्या 09666/09665, उदयपुर सिटी-खजुराहो-उदयपुर सिटी स्पेशल रेलसेवा में उदयपुर सिटी से 25 स‍ितंबर को एवं खजुराहो से 27 स‍ितंबर को 02 द्वितीय शयनयान व 02 द्वितीय साधारण श्रेणी कोचों की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.7. ट्रेन संख्या 09601/09602, उदयपुर सिटी-न्यूजलपाईगुडी-उदयपुर सिटी स्पेशल रेलसेवा में उदयपुर सिटी से 25 स‍ितंबर को एवं न्यूजलपाईगुडी से 27 स‍ितंबर को 01 द्वितीय शयनयान श्रेणी कोच की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.8. ट्रेन संख्या 04801/04802, जोधपुर-इंदौर-जोधपुर स्पेशल रेलसेवा में जोधपुर से 25 स‍ितंबर को एवं इंदौर से26 स‍ितंबर को 02 द्वितीय साधारण श्रेणी कोचों की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.ये भी पढ़ें: Indian Railways: रेल यात्री ध्‍यान दें, इन ट्रेनों से सफर करने जा रहे हैं तो पहले चैक कर लें नई टाइम‍िंग 9. ट्रेन संख्या 09711/09712, जयपुर-भोपाल-जयपुर स्पेशल रेलसेवा में जयपुर से 25 स‍ितंबर को एवं भोपाल से 26 स‍ितंबर को 02 द्वितीय साधारण श्रेणी कोचों की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.10. ट्रेन संख्या 02996/02995, बान्द्रा टर्मिनस-अजमेर-बान्द्रा टर्मिनस स्पेशल रेलसेवा में अजमेर से 25 स‍ितंबर को एवं बान्द्रा टर्मिनस से 26 स‍ितंबर को 01 द्वितीय शयनयान श्रेणी कोच की अस्थाई बढ़ोतरी की जा रही है.
Page#    438085 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy