Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

For RailFans, Platform Announcements are more musical than Bollywood songs. - Prince Maan

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Tue May 21 06:14:11 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Chowkidar ANKIT Srivastava~

Page#    Showing 1 to 5 of 23 news entries  next>>
  
हिन्दुस्तान टीम, प्रतापगढ़ - कुंडा
Updated: Sat, 18 May 2019 10:34 PM IST
“वाराणसी” से “उतरेटिया” के बीच 301 किलोमीटर रेललाइन का विद्युतीकरण पूरा हो गया है। उस पर जल्द ही “इलेक्ट्रिक इंजन” से ट्रेनें दौड़ेंगी। “रेल संरक्षा विभाग” की अनुमति से “20 मई” के बाद कभी भी ट्रेन संचालन शुरू हो सकता है।
“रेल विकास निगम लिमिटेड” के जिला प्रबंधक “जगन्नाथ मिश्र” ने
...
more...
बताया कि “लखनऊ”―“वाराणसी” रेल लाइन पर प्रतिदिन 32 यात्री ट्रेनें चलती हैं। रेलवे काफी दिन से “डीजल” की जगह “इलेक्ट्रिक इंजन” वाली ट्रेनें चलाने का प्रयास कर रहा था। “पंजाब मेल”, “उद्योग नगरी” सहित कई ट्रेनों में “लखनऊ” से “इलेक्ट्रिक इंजन” लगाया जाता है। अब “लखनऊ” के “उतरेटिया” से “वाराणसी” के बीच रेललाइन विद्युतीकरण होने से “पद्मावत एक्सप्रेस”, “गरीब रथ”, “एकात्मकता एक्सप्रेस”, “भोपाल एक्सप्रेस”, “वाराणसी इंटरसिटी”, “पंजाब मेल”, “अर्चना एक्सप्रेस”, “नीलांचल”, “कानपुर इंटरसिटी”, “काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस”, “लखनऊ”―“प्रतापगढ़ पैसेंजर” भी “इलेक्ट्रिक इंजन” से दौड़ेंगी। इससे डीजल बचने के साथ ही प्रदूषण की भी समस्या खत्म होगी। उन्होंने बताया कि “20 मई” के बाद “रेल संरक्षा आयुक्त” के निर्देश पर विद्युतीकरण के कार्य का निरीक्षण होना है। इसके बाद इलेक्ट्रिक इंजन की ट्रेनें चलने के लिए हरी झंडी मिल सकती है।
खबर...हरिकेश मिश्र

5 Public Posts - Yesterday

  
316 views
Yesterday (10:51)
Sp Sharma^~   5208 blog posts   3177 correct pred (80% accurate)
Re# 4321620-6            Tags   Past Edits
23 तारीख को CRS Sir ji, बिजली से चलने वाली ट्रेनों को हरी झंडी दे देंगे ??

  
420 views
Yesterday (11:04)
Chowkidar ANKIT Srivastava~   952 blog posts
Re# 4321620-7            Tags   Past Edits
““इलेक्ट्रिक इंजन से जल्द दौड़ेंंगी ट्रेनें””
【रेल विद्युतीकरण का शनिवार को जायजा लेते RVNL की टीम। ●हिन्दुस्तान】
“20_मई_2019”
#View_Full_Size करके देखें…

  
300 views
Yesterday (11:10)
Chowkidar ANKIT Srivastava~   952 blog posts
Re# 4321620-8            Tags   Past Edits
आप इनसे सम्पर्क करें.... ये सब “जानकारी” दे देगें....
ratansharga

  
261 views
Yesterday (13:17)
Chowkidar ANKIT Srivastava~   952 blog posts
Re# 4321620-9            Tags   Past Edits
Sir... वहां कि Latest Update Pic कोई नहीं दे रहा... इसलिए... समस्या खड़ी हो गई है...

  
261 views
Yesterday (13:20)
Sp Sharma^~   5208 blog posts   3177 correct pred (80% accurate)
Re# 4321620-10            Tags   Past Edits
Pic nahi de raha to koi baat nahin, aap aise hi information de dijiye ☺️
  
Publish Date:Thu, 16 May 2019 09:06 AM (IST)
【पूरा हुआ रायबरेली होकर वाराणसी तक रेल विद्युतीकरण। 20 मई के बाद इलेक्ट्रिक इंजन से दौड़ेंगी ट्रेनें।...】
लखनऊ, जेएनएन। पर्यावरण को बचाने और ईंधन की खपत को कम करने के लिए रेलवे 301 किमी. के एक बड़े रूट पर डीजल इंजनों की जगह इलेक्ट्रिक इंजनों का इस्तेमाल करेगा। उतरेटिया से रायबरेली होते हुए वाराणसी तक रेल विद्युतीकरण पूरा हो गया है। अब रेलवे 20 मई के बाद अपनी पैसेंजर, मेल एक्सप्रेस ट्रेनों और मालगाड़ियों को इलेक्ट्रिक इंजन से दौड़ाएगा। साथ ही शहरवासियों के लिए रायबरेली
...
more...
तक मेमू सेवाएं चलाने की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं।
लखनऊ से अभी सुल्तानपुर होकर वाराणसी तक 283 किलोमीटर रेलखंड पर दोहरीकरण और रेल विद्युतीकरण हुआ है। इस पर इलेक्ट्रिक इंजन से श्रमजीवी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनें और मेमू दौड़ रही हैं। वहीं, बस्ती होकर गोरखपुर रूट का भी विद्युतीकरण हो चुका है। फैजाबाद और रायबरेली होकर दो अलग रूट ही बचे थे। रेलवे ने उतरेटिया से श्रीराजनगर और वाराणसी–जंघई से श्रीराजनगर तक विद्युतीकरण पूरा कर लिया है। रेलवे बोर्ड ने डीआरएम को आदेश दिया है कि 20 मई तक रायबरेली होकर वाराणसी तक पूरा रूट का विद्युतीकरण कमीशंड हो जाएगा। इस रूट पर 32 यात्री ट्रेनें दौड़ती हैं। ऐसे में रेलवे डीजल इंजन की जगह इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनें चलाने की व्यवस्था करे। लखनऊ के अलावा रायबरेली, अमेठी, प्रतापगढ़, जौनपुर, भदोही और वाराणसी तक डीजल इंजन के न चलने से उनसे निकलने वाला धुआं पर्यावरण को प्रदूषित नहीं करेगा।
इंजन में होती है इतनी डीजल की खपत
एक हजार टन भार के साथ एक किलोमीटर चलने वाला इंजन साढ़े तीन लीटर डीजल की खपत करता है। मालगाड़ी के एक वैगन का भार लगभग अस्सी टन होता है। ऐसे में 48 से 50 वैगन वाली एक मालगाड़ी चार हजार टन भार वहन करती है। ऐसे में एक मालगाड़ी का इंजन एक किलोमीटर के सफर में 14 लीटर डीजल की खपत करता है। जबकि एक्सप्रेस ट्रेन एक हजार टन के लोड से चलती है। इस पर साढ़े तीन लीटर डीजल प्रति किलोमीटर खर्च होता है।
“समय भी बचेगा”
पंजाब मेल और उद्योग नगरी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों के इंजन लखनऊ में बदले जाते हैं। ऐसे में अब इंजन न बदलने से समय बचेगा। काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों की रफ्तार बढ़ेगी।
““इन ट्रेनों में लगेंगे इलेक्ट्रिक इंजन””
14259/60 एकात्मकता एक्सप्रेस,
22407/08 वाराणसी आंनद विहार गरीब रथ,
14207/08 पद्मावत एक्सप्रेस,
12183/84 प्रतापगढ़–भोपाल एक्सप्रेस,
14203/04 वाराणसी–लखनऊ चारबाग इंटरसिटी,
14265/66 जनता एक्सप्रेस,
13005/06 पंजाब मेल,
54255/56 लखनऊ–वाराणसी पैसेंजर,
12355/56 अर्चना एक्सप्रेस,
14219/20 वाराणसी–लखनऊ इंटरसिटी,
12875/76 नीलांचल एक्सप्रेस,
12173/74 उद्योगनगरी एक्सप्रेस,
54293/94 लखनऊ–प्रतापगढ़ पैसेंजर,
14123/24 प्रतापगढ़–कानपुर इंटरसिटी,
14257/58 काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस...

24 Public Posts - Thu May 16, 2019

1 Public Posts - Fri May 17, 2019

37 Public Posts - Sat May 18, 2019

  
574 views
May 18 (23:31)
Chowkidar ANKIT Srivastava~   952 blog posts
Re# 4318329-76            Tags   Past Edits
14219 & 20 (इसमें 15 Coaches हैं) में कौन सा इंजन लगेगा...???

  
May 18 (23:37)
Sp Sharma^~   5208 blog posts   3177 correct pred (80% accurate)
Re# 4318329-78            Tags   Past Edits
1 compliments
ओह...!!!
जो लखनऊ डिवीजन चाहेगा वही लगेगा !😁😂

  
809 views
May 19 (02:14)
NDLS♥️♥️♥️♥️   10 blog posts
Re# 4318329-81            Tags   Past Edits
Is bsb lko is fully double via rae bareli

  
669 views
May 19 (08:58)
Chowkidar ANKIT Srivastava~   952 blog posts
Re# 4318329-82            Tags   Past Edits
“BSB” ― “JNH” & “LKO” – “SAGR”
Fully Doubled...
AND “JNH”―“SAGR” Doubling in Progress...

  
May 19 (11:54)
Ami Sankrit   200 blog posts
Re# 4318329-83            Tags   Past Edits
Updates
🔹Electrification🔹
*Fully Electrified* ✔
*(Double Electrified - UTR - SAGR, JNH - BSB)
🔹Doubling🔹
UTR
...
more...
- SAGR 100%
SAGR - BCN 85%
BCN - GANG 75%
GANG - RBL 25%
RBL - JAIS 75%
JAIS - AME 85%
AME - JNH 1%
  
May 15 (21:04) बदायूं रेलवे स्टेशन पर दम तोड़ रहीं यात्री सुविधाएं (m.livehindustan.com)
NER/North Eastern
0 Followers
2074 views

News Entry# 382188  Blog Entry# 4318038   
  Past Edits
May 15 2019 (21:34)
Station Tag: Bareilly Junction/BE removed by 💖Electrification Of MTJ KSJ Route Completed💖^~/1805582

May 15 2019 (21:34)
Station Tag: Budaun/BEM added by 💖Electrification Of MTJ KSJ Route Completed💖^~/1805582

May 15 2019 (21:34)
Station Tag: Kasganj Junction/KSJ removed by 💖Electrification Of MTJ KSJ Route Completed💖^~/1805582
Stations:  Budaun/BEM  
हिन्दुस्तान टीम, बदायूं
Updated: Wed, 01 May 2019 01:44 AM IST
ट्रेनों की बेहतर चाल व रेलवे स्टेशनों पर यात्री सुविधाएं दम तोड़ती नजर आ रही हैं। यह अलग बात है कि सुविधाओं के नाम पर रेल प्रशासन द्वारा धन तो खर्च किया जा रहा है। इसकी सुविधाय यात्रियों को नही मिल पा रही है।
बरेली–कासगंज रूट के बदायूं रेलवे स्टेशन की पड़ताल की
...
more...
तो हालात बेहद खराब मिले। दावों के विपरीत यात्री सुविधाएं रेलवे स्टेशनों से नदारद है। इस रूट पर रोज एक दर्जन ट्रेनें चलती हैं फिर भी मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। भीषण गर्मी में सबसे बड़ा मुद्दा पेयजल की उपलब्धता है। स्टेशन पर पेयजल के पुख्ता इंतजाम नहीं है।
भीषण गर्मी में भी नहीं चल रहे पंखे
कहने को इस रूट का विद्युतीकरण का कार्य शुरू हो चुका है। इसके बाद भी स्टेशन पर मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। स्टेशन पर भीषण गर्मी में भी पंखे नहीं चल रहे हैं। ऐसे में आने वाले यात्रियों को गर्मी और लू के थपेड़ों को सहते हुए टे्रन का इंतजार करना होता है। स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को बैठने के लिए कुर्सियों की पर्याप्त संख्या तक नहीं है। ऐसे में लोगों को जमीन पर बैठकर ही ट्रेनों का इंतजार करना पड़ता है।
  
May 15 (10:18) ““सतना”–“मानिकपुर” के बीच “रेल विद्युतीकरण” का ट्रॉयल सफल, 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ा “इलेक्ट्रिक इंजन””” (www.google.co.in)
WCR/West Central
0 Followers
2378 views

News Entry# 382158  Blog Entry# 4317583   
  Past Edits
May 15 2019 (10:20)
Station Tag: Manikpur Junction/MKP added by Chowkidar ANKIT Srivastava~/1878354

May 15 2019 (10:20)
Station Tag: Satna Junction/STA added by Chowkidar ANKIT Srivastava~/1878354
By Sonelal Kushwaha
May, 09 2019 01:29:42 (IST)
【Satna–Manikpur train electrification trials successful】
सतना. “सतना”–“मानिकपुर” “रेल विद्युतीकरण” के मामले में “बुधवार” का दिन खास रहा। “सतना” से “मानिकपुर” के बीच “इलेक्ट्रिक इंजन” के माध्यम से “रेल विद्युतीकरण” का “ट्रॉयल” किया गया, जो सफल रहा। इसको लेकर रेलवे ने पहले से तैयारी कर ली थी।
आरआई
...
more...
डिपार्टमेंट को भी दिशा―निर्देश जारी कर दिए गए थे। “बुधवार” को “जबलपुर मंडल” से डिप्टी सीई प्रदीप गुप्ता, एसएसई विवेक गुप्ता व एई डीके झा “सतना” पहुंचे। सुबह 10.30 बजे “इलेक्टिक इंजन” के माध्यम से “ट्रॉयल” शुरू किया गया। इंजन को “सतना” से “मानिकपुर” के बीच 50 किमी. प्रति घंटे की गति से दौड़ाया गया। उसने करीब ७७ किमी की दूरी को दो घंटे में पूरा किया।
“सवा घंटे में पूरी हुई”
इस दौरान बीच–बीच में इंजन की गति धीमी की गई और रोका भी गया। उसके बाद वापसी में अपराह्न 3.15 बजे “सतना” के लिए इंजन को दौड़ाया गया। इस दौरान गति 60-62 किमी रखी गई। वापसी में ये दूरी मात्र सवा घंटे में पूरी हुई, इंजन 4.30 बजे “सतना स्टेशन” पर आ चुका था।
“बड़ी उपलब्धि”
“रेल विद्युतीकरण” को लेकर सतना के लिए बड़ी उपलब्धि है। अगर, सब कुछ सही रहा तो सतना से जल्द ही पैसेंजर व मालगाड़ी ट्रेनों को “इलेक्ट्रिक इंजन” के माध्यम से चलाया जाएगा। हालांकि अभी कई चरणों की औपचारिकता बाकी है। जिसे पूरा करने के बाद कदम को आगे बढ़ाया जाएगा।
“पहले भी हुआ था ट्रॉयल”
इससे पहले भी “रेल विद्युतीकरण” का ट्रॉयल हुआ था और सफल था। लेकिन, उस समय इंजन को [“सगमा” से “मानिकपुर”] तक दौड़ाया गया था। इस बार 【“सतना” से “मानिकपुर”】 तक का “ट्रॉयल” हुआ है। इसका आशय है कि “सतना”–“मानिकपुर” तक शत―प्रतिशत ट्रैक का विद्युतीकरण हो गया है।
““सतना”–“कटनी” शेष”
पूरा प्रोजेक्ट “इटारसी” से लेकर “इलाहाबाद” तक “रेल विद्युतीकरण” का था। इसमें “इटारसी”–“कटनी”, “मानिकपुर”–“इलाहाबाद” व “सतना”–“इलाहाबाद” का काम पूरा हो चुका है। “सतना”–“कटनी” का काम शेष है। जबकि “सतना”–“रीवा” का काम चल रहा है।
  
सहरसा, रंजीत
Updated: Sun, 28 Apr 2019 05:32 PM IST
कोसी और सीमांचल क्षेत्र के रेल यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है। “मधेपुरा”–“पूर्णिया” कोर्ट रेलखंड पर अगले साल से “इलेक्ट्रिक ट्रेनें” चलेंगी। मार्च 2020 तक यह रेलखंड इलेक्ट्रिफिकेशन व्यवस्था से जुड़ जाएगा।
इस रेलखंड पर इलेक्ट्रिफिकेशन के लिए कार्य एजेंसी चयन हेतु टेंडर की प्रक्रिया अगले महीने मई अंतिम तक पूरी होगी। पूर्व
...
more...
मध्य रेलवे के प्रमुख मुख्य अभियंता विद्युत राकेश कुमार तिवारी ने कहा कि ई टेंडर 29 अप्रैल को निकलेगा। दो पार्ट में होने वाले टेंडर प्रक्रिया के तहत पहले टेक्निकल बिड फाइनल होगा। फिर फायनेंसियल विड फाइनल होगा। उन्होंने कहा कि टेंडर की प्रक्रिया एक महीने में पूरी करते रेल इलेक्ट्रिफिकेशन शुरू कराई जाएगी। मार्च 2020 तक कार्य पूरा करने का लक्ष्य है। लेकिन लक्ष्य से दो माह पहले जनवरी 2020 तक ही 750 किमी रेल ट्रैक इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य पूरा कराने का प्रयास रहेगा। कार्य पूरा होने के बाद सीआरएस निरीक्षण कराई जाएगी। सीआरएस से हरी झंडी मिलते अगले साल 2020 में “मधेपुरा”–“पूर्णिया” कोर्ट रेलखंड पर “इलेक्ट्रिक ट्रेन” चलने लगेगी। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिफिकेशन की लागत राशि 78 करोड़ है। “पूर्णिया” कोर्ट से आगे “कटिहार” तक रेल इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य एनएफ (नार्थ फ्रंटियर) रेलवे कराएगी।
“समय की बचत के साथ पर्यावरण संरक्षण भी”
“मधेपुरा”–“पूर्णिया” कोर्ट रेलखंड पर “इलेक्ट्रिक ट्रेन” चलने के बाद समय की बचत होगी । यात्री कम समय में “मानसी”–“सहरसा”–“मधेपुरा”–“पूर्णिया” कोर्ट का सफर तय करेंगे। वहीं पर्यावरण संरक्षण के ख्याल से भी इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य महत्वपूर्ण होगा। डीजल से ट्रेन चलने पर वातावरण में फैलने वाला प्रदूषण दूर होगा। रेलवे का भी “डीजल” से काफी कम “इलेक्ट्रिक” से ट्रेन चलने पर खर्च होगा।
“अभी इस रूट पर चलती है इलेक्ट्रिक ट्रेन”
अभी “मानसी” से “सहरसा” होकर “मधेपुरा” स्टेशन तक पर “इलेक्ट्रिक ट्रेनें” चलती है। इस रेलखंड पर विद्युतीकरण कार्य पिछले साल फरवरी 2018 में पूरा किया गया था। सिर्फ 6 महीने में इस रेलखंड को विद्युतीकरण व्यवस्था से जोड़ते सबसे पहले ट्रायल विद्युत इंजन चलाई गई थी। “मधेपुरा” रेल कारखाना में तैयार देश की सबसे उच्च क्षमता वाली 12 हजार हार्स पावर के “विद्युत इंजन” को ट्रायल पर यूपी के सहारनपुर ले जाया गया था।
प्रमुख मुख्य अभियंता विद्युत राकेश कुमार तिवारी ने बताया कि “मधेपुरा”–“पूर्णिया” कोर्ट रेलखंड को विद्युतीकरण व्यवस्था से जोड़ने के लिए टेंडर की सारी प्रक्रिया एक महीने में पूरी कर ली जाएगी। इसके बाद जनवरी 2020 तक इलेक्ट्रिफिकेशन पूरा कराने का प्रयास रहेगा। अगले साल से इस रेलखंड पर इलेक्ट्रिक ट्रेनें चलेगी।
Page#    23 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy