Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

प्रयागराज एक्सप्रेस - जो भी हो तुम खुदा की कसम; लाजवाब हो

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sun Jun 16 16:44:04 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by jeetendrapoddar~

Page#    Showing 1 to 5 of 82 news entries  next>>
  
Jun 10 (22:24) मुंगेर-खगड़िया-बेगूसराय रेलखंड पर यात्री करते हैं मौत की सफर (www.jagran.com)
0 Followers
4053 views

News Entry# 383876  Blog Entry# 4339679   
  Past Edits
Jun 10 2019 (22:24)
Station Tag: Kiul Junction/KIUL added by jeetendrapoddar~/1561784

Jun 10 2019 (22:24)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by jeetendrapoddar~/1561784

Jun 10 2019 (22:24)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by jeetendrapoddar~/1561784

Jun 10 2019 (22:24)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by jeetendrapoddar~/1561784
- बढ़ती गई यात्रियों की संख्या, नहीं बढ़ सकी डिब्बों की संख्या - गेट, पायदान पर लटक कर हो रही यात्रा -आए दिन ट्रेन से गिर का मौत के मुंह में समा रहे हैं यात्री -मुंगेर-बेगूसराय-खगड़िया रेल खंड पर चलती है सात डिब्बों वाली ट्रेन -1500 से 1800 यात्री रोज कर रहे हैं सफर संवाद सहयोगी, जमालपुर (मुंगेर) : मुंगेर-तिलरथ-खगड़िया के बीच रोजाना यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। गंगा पुल पर जब रेल परिचालन शुरू हुआ, उस समय की तुलना में अभी यात्रियों की संख्या लगभग दस गुणा बढ़ गई है। लेकिन, मुंगेर-तिलरथ और मुंगेर खगड़िया के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन के डिब्बों की संख्या सात से आगे नहीं बढ़ी। जबकि, प्रत्येक दिन इस रेलखंड पर औसतन 1500 से 1800 रेल यात्री सफर करते हैं। ऐसे में भीड़ के कारण यात्री जान जोखिम में डाल कर...
more...
गेट पर लटक कर या दरवाजे और रेल इंजन पर बैठ कर यात्रा पूरी करने को विवश हैं। कई बार ट्रेन से गिर कर यात्री जख्मी हुए, तो कई बार मौत हो गई। इसके बाद भी ट्रेन में बागी की संख्या बढ़ाने की दिशा में कोई पहल नहीं किया जा रहा है। सात डिब्बों वाली ट्रेन पूरे दिन में आठ चक्कर लगाती है। गंगा नदी पर बने सड़क पुल से वाहनों का परिचालन शुरू नहीं होने के कारण रेल ही यात्रा का एक मात्र माध्यम है। रेलवे अफसरों के अनुसार सात बोगी वाली ट्रेन में औसतन 600 लोग आराम से बैठकर सफर कर सकते हैं, लेकिन मुंगेर-तिलरथ और मुंगेर खगड़िया रेलखंड पर यह अनुपात संभव नहीं हो पा रहा है। ------------------------------ पर्व-त्योहार के समय और बढ़ जाती है यात्रियों की संख्या ट्रेन में इतनी भीड़ रहती है कि लोग जान जोखिम में डालकर गेट पर लटककर या फिर खड़े होकर यात्रा कर रहे हैं। हर बोगी को 90 से 100 पैसेंजर क्षमता के अनुसार डिजाइन किया गया है। किसी विशेष दिन और छठ जैसे त्योहारी सीजन में यात्रियों की संख्या और भी बढ़ जाती है। -------------------------------- पैर रखने तक की जगह नहीं होती लोकल ट्रेन में कई बार इतनी भीड़ होती है कि पैर रखने तक की जगह नहीं होती है। गेट के पास ही कई यात्री बैठकर या लटककर सफर करते हुए दिखाई देते हैं। ------------------------------ लंबित है कोच बढ़ाने का मामला इस सेक्शन पर चलने वाली ट्रेनों में कोच बढ़ाने का मामला लंबित है। हर बार अधिकारी कोच की संख्या बढ़ाने का आश्वासन देते हैं। लेकिन कोच नहीं बढ़ा पा रहे हैं। इस कारण यात्रियों को परेशानी हो रही है। लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Jagran
- बढ़ती गई यात्रियों की संख्या, नहीं बढ़ सकी डिब्बों की संख्या
- गेट, पायदान पर लटक कर हो रही यात्रा
-आए दिन ट्रेन से गिर का मौत के मुंह में समा रहे हैं यात्री -मुंगेर-बेगूसराय-खगड़िया रेल खंड पर चलती है सात डिब्बों वाली ट्रेन
-1500 से 1800 यात्री रोज कर रहे हैं सफर
संवाद सहयोगी, जमालपुर (मुंगेर) : मुंगेर-तिलरथ-खगड़िया के बीच रोजाना यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। गंगा पुल पर जब रेल परिचालन शुरू हुआ, उस समय की तुलना में अभी यात्रियों की संख्या लगभग दस गुणा बढ़ गई है। लेकिन, मुंगेर-तिलरथ और मुंगेर खगड़िया के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन के डिब्बों की संख्या सात से आगे नहीं बढ़ी। जबकि, प्रत्येक दिन इस रेलखंड पर औसतन 1500 से 1800 रेल यात्री सफर करते हैं। ऐसे में भीड़ के कारण यात्री जान जोखिम में डाल कर गेट पर लटक कर या दरवाजे और रेल इंजन पर बैठ कर यात्रा पूरी करने को विवश हैं। कई बार ट्रेन से गिर कर यात्री जख्मी हुए, तो कई बार मौत हो गई। इसके बाद भी ट्रेन में बागी की संख्या बढ़ाने की दिशा में कोई पहल नहीं किया जा रहा है। सात डिब्बों वाली ट्रेन पूरे दिन में आठ चक्कर लगाती है। गंगा नदी पर बने सड़क पुल से वाहनों का परिचालन शुरू नहीं होने के कारण रेल ही यात्रा का एक मात्र माध्यम है। रेलवे अफसरों के अनुसार सात बोगी वाली ट्रेन में औसतन 600 लोग आराम से बैठकर सफर कर सकते हैं, लेकिन मुंगेर-तिलरथ और मुंगेर खगड़िया रेलखंड पर यह अनुपात संभव नहीं हो पा रहा है।
------------------------------
पर्व-त्योहार के समय और बढ़ जाती है यात्रियों की संख्या ट्रेन में इतनी भीड़ रहती है कि लोग जान जोखिम में डालकर गेट पर लटककर या फिर खड़े होकर यात्रा कर रहे हैं। हर बोगी को 90 से 100 पैसेंजर क्षमता के अनुसार डिजाइन किया गया है। किसी विशेष दिन और छठ जैसे त्योहारी सीजन में यात्रियों की संख्या और भी बढ़ जाती है।
--------------------------------
पैर रखने तक की जगह नहीं होती
लोकल ट्रेन में कई बार इतनी भीड़ होती है कि पैर रखने तक की जगह नहीं होती है। गेट के पास ही कई यात्री बैठकर या लटककर सफर करते हुए दिखाई देते हैं।
------------------------------
लंबित है कोच बढ़ाने का मामला
इस सेक्शन पर चलने वाली ट्रेनों में कोच बढ़ाने का मामला लंबित है। हर बार अधिकारी कोच की संख्या बढ़ाने का आश्वासन देते हैं। लेकिन कोच नहीं बढ़ा पा रहे हैं। इस कारण यात्रियों को परेशानी हो रही है।
लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप
Posted By: Jagran
Copyright © Jagran Prakashan Limited.

  
Rail News
952 views
Jun 13 (07:50)
विक्रमशिला with GZB P5❤️ᏕᏬᎮᏋᏒᎷᏗᏁ🚩^~   11741 blog posts   22986 correct pred (74% accurate)
Re# 4339679-1            Tags   Past Edits
Very sad😑😑😑😑
  
Jun 02 (22:35) पहली बार किऊल-भागलपुर सेक्शन पर इलेक्ट्रिक इंजन से शुरू हुआ परिचालन (www.jagran.com)
0 Followers
4423 views

News Entry# 383297  Blog Entry# 4333405   
  Past Edits
Jun 02 2019 (22:35)
Station Tag: Kiul Junction/KIUL added by jeetendrapoddar~/1561784

Jun 02 2019 (22:35)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by jeetendrapoddar~/1561784

Jun 02 2019 (22:35)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by jeetendrapoddar~/1561784

Jun 02 2019 (22:35)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by jeetendrapoddar~/1561784
-इलेक्ट्रिक इंजन के सहारे समय से विक्रमशीला पहुंची जमालपुर - रफ्तार के साथ समय की होगी बचत, एसएस ने लोको पायलट का किया स्वागत केएम राज, संवाद सहयोगी, जमालपुर (मुंगेर) : इंतजार की घड़ी समाप्त हुई। किऊल-भागलपुर रेलखंड पर इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेन परिचालन रविवार से शुरू हो गया। आनंदविहार टर्मिनल से भागलपुर जाने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस गाजियाबाद की श्वेत (उजला) रंग की इंजन के सहारे जमालपुर पहुंची। इलेक्ट्रिक इंजन लगते ही ट्रेन की रफ्तार बढ़ गई और रविवार को समय से पहले जंक्शन पहुंची। इलेक्ट्रिक इंजन से परिचालन शुरू होने पर यात्री भी खुश दिखे। एसएस ओंकार प्रसाद ने लोको पायलट उमेश कुमार, सहायक पायलट डी मेहता एवं दानापुर मंडल के लोको इंचार्ज एसएन गुप्ता का अभिवादन किया। मौके पर स्टेशन के सफाई निरीक्षक पंकज कुमार एवं मुकेश मुख्य रूप से मौजूद थे। ----------------------------- आज से भागलपुर से होगा परिचालन भागलपुर-किऊल के बीच नवनिर्मित...
more...
विद्युतीकरण लाइन पर इलेक्ट्रिक इंजन की पहली ट्रेन अप मार्ग में विक्रमशिला सोमवार से चलेगी। विक्रमशिला में लगने वाला इलेक्ट्रिक इंजन नॉर्दन रेलवे की होगी। इलेक्ट्रिक इंजन से विक्रमशिला एक्सप्रेस के परिचाल से संबंधित नॉर्दन रेलवे के चीफ पैसेंजर ट्रांसपोर्ट मैनेजर ने नोटिफकेशन जारी किया है। -------------------------- अभी पुराने समय पर चलेगी विक्रमशिला, बाद में होगा बदलाव इलेक्ट्रिक इंजन लगने से विक्रमशिला की स्पीड बढ़ जाएगी, तो दूरी तय करने में समय की बचत होगी। जब तक नई समय-सारिणी नहीं लागू हो जाता है, तब तक यह पुराने समय पर ही चलेगी। जुलाई में देश भर की महत्वपूर्ण ट्रेनों के समय में बदलाव होगा। इसमें विक्रमशिला भी शामिल है। ------------------------- सेकेंड फेज में जनेसवा में लगेगा इलेक्ट्रिक इंजन विक्रमशिला एक्सप्रेस के बाद सेकेंड फेज में भागलपुर से मुजफ्फरपुर जाने वाली जनसेवा एक्सप्रेस में इलेक्ट्रिक इंजन लगेगा। इसके मद्देनजर रेलवे द्वारा तैयारी की जा रही है। सब कुछ ठीक-ठाक रहा, तो जून आखिरी सप्ताह से इलेक्ट्रिक इंजन के सहारे जनसेवा चलेगी। लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Jagran
-इलेक्ट्रिक इंजन के सहारे समय से विक्रमशीला पहुंची जमालपुर
- रफ्तार के साथ समय की होगी बचत, एसएस ने लोको पायलट का किया स्वागत केएम राज, संवाद सहयोगी, जमालपुर (मुंगेर) : इंतजार की घड़ी समाप्त हुई। किऊल-भागलपुर रेलखंड पर इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेन परिचालन रविवार से शुरू हो गया। आनंदविहार टर्मिनल से भागलपुर जाने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस गाजियाबाद की श्वेत (उजला) रंग की इंजन के सहारे जमालपुर पहुंची। इलेक्ट्रिक इंजन लगते ही ट्रेन की रफ्तार बढ़ गई और रविवार को समय से पहले जंक्शन पहुंची। इलेक्ट्रिक इंजन से परिचालन शुरू होने पर यात्री भी खुश दिखे। एसएस ओंकार प्रसाद ने लोको पायलट उमेश कुमार, सहायक पायलट डी मेहता एवं दानापुर मंडल के लोको इंचार्ज एसएन गुप्ता का अभिवादन किया। मौके पर स्टेशन के सफाई निरीक्षक पंकज कुमार एवं मुकेश मुख्य रूप से मौजूद थे।
-----------------------------
आज से भागलपुर से होगा परिचालन
भागलपुर-किऊल के बीच नवनिर्मित विद्युतीकरण लाइन पर इलेक्ट्रिक इंजन की पहली ट्रेन अप मार्ग में विक्रमशिला सोमवार से चलेगी। विक्रमशिला में लगने वाला इलेक्ट्रिक इंजन नॉर्दन रेलवे की होगी। इलेक्ट्रिक इंजन से विक्रमशिला एक्सप्रेस के परिचाल से संबंधित नॉर्दन रेलवे के चीफ पैसेंजर ट्रांसपोर्ट मैनेजर ने नोटिफकेशन जारी किया है।
--------------------------
अभी पुराने समय पर चलेगी विक्रमशिला, बाद में होगा बदलाव इलेक्ट्रिक इंजन लगने से विक्रमशिला की स्पीड बढ़ जाएगी, तो दूरी तय करने में समय की बचत होगी। जब तक नई समय-सारिणी नहीं लागू हो जाता है, तब तक यह पुराने समय पर ही चलेगी। जुलाई में देश भर की महत्वपूर्ण ट्रेनों के समय में बदलाव होगा। इसमें विक्रमशिला भी शामिल है।
-------------------------
सेकेंड फेज में जनेसवा में लगेगा इलेक्ट्रिक इंजन विक्रमशिला एक्सप्रेस के बाद सेकेंड फेज में भागलपुर से मुजफ्फरपुर जाने वाली जनसेवा एक्सप्रेस में इलेक्ट्रिक इंजन लगेगा। इसके मद्देनजर रेलवे द्वारा तैयारी की जा रही है। सब कुछ ठीक-ठाक रहा, तो जून आखिरी सप्ताह से इलेक्ट्रिक इंजन के सहारे जनसेवा चलेगी।
लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप
Posted By: Jagran
Copyright © Jagran Prakashan Limited.
  
May 09 (22:22) अब जुलाई माह से तीन दिन चलेगी अंग एक्सप्रेस, जानें... किस मार्ग से कहां तक जाएगी यह ट्रेन (www.jagran.com)
0 Followers
5224 views

News Entry# 381829  Blog Entry# 4313195   
  Past Edits
May 09 2019 (22:22)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by jeetendrapoddar~/1561784

May 09 2019 (22:22)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by jeetendrapoddar~/1561784

May 09 2019 (22:22)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by jeetendrapoddar~/1561784
भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर से यशवंतपुर (बेंग्लुरु) के बीच सप्ताह में एक दिन चल रही अंग एक्सप्रेस का परिचालन जुलाई महीने से तीन दिन करने पर सहमति बन गई है। दो महीने बाद आने वाली नई समय सारिणी में फेरा बढ़ाने की सूचना शामिल किया गया है। संबंधित जोन मुख्यालय को पत्र भी भेज दिया गया है। इधर, एक दिन की जगह सप्ताह में तीन दिन अंग एक्सप्रेस का परिचालन बढ़ाने के फैसले से भागलपुर के अलावा मुंगेर और लखीसराय जिले के यात्रियों को काफी सहूलियत होगी। दरअसल, जुलाई में भारतीय रेल की समय सारिणी में बदलाव होना है। बीते माह इंडियन रेलवे टाइम टेबल कमेटी-2019 की बैठक बोर्ड कार्यालय में हुई। इस बैठक में सभी जोन की ओर से नई ट्रेन का परिचालन और ट्रेनों के फेरे बढ़ाने संबंधित रिपोर्ट पर चर्चा हुई। इसमें दक्षिण पश्चिम रेलवे के अंतर्गत ट्रेन संख्या 12253/54 यशवंतपुर-भागलपुर साप्ताहिक एक्सप्रेस का फेरा बढ़ाने जाने का प्रस्ताव...
more...
दिया गया। अभी इस ट्रेन का परिचालन भागलपुर से हर बुधवार और यशवंतपुर से शनिवार को हो रहा है। जेएडयूआरसीसी के पूर्व सदस्य आशुतोष कुमार ने बताया कि अंग एक्सप्रेस का फेरा बढ़ाने का प्रस्ताव दक्षिण पश्चिम रेलवे ने दिया है। नई समय सारिणी में इसे लागू होना है। फेरा बढ़ाए जाने से यात्रियों को सहूलियत होगी। एक दिन चलने से हाउसफुल रहती है ट्रेन अंग एक्सप्रेस का परिचालन अभी एक दिन हो रहा है। इस कारण यह ट्रेन हमेशा हाउसफुल रहती है। इसमें सफर करने के लिए यात्रियों को महीनों पहले आरक्षण कराना होता है। तब जाकर यात्रियों को इससे सफर करना नसीब होता है। कई शहरों को जोड़ती है अंग एक्सप्रेस अंग एक्सप्रेस जसीडीह, आसनसोल, हावड़ा, खडग़पुर, भुवनेश्वर, कटक, विशाखापतनम, विजयवाड़ा, बेंग्लुरु जैसे बड़े शहरों को जोड़ती है। यहां के छात्र-छात्राओं के लिए पसंदीदा ट्रेन है। एक ही दिन परिचालन होने से छात्र-छात्राओं के साथ-साथ आम यात्रियों को परेशानी होती है। लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप Posted By: Dilip Shukla
भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर से यशवंतपुर (बेंग्लुरु) के बीच सप्ताह में एक दिन चल रही अंग एक्सप्रेस का परिचालन जुलाई महीने से तीन दिन करने पर सहमति बन गई है। दो महीने बाद आने वाली नई समय सारिणी में फेरा बढ़ाने की सूचना शामिल किया गया है। संबंधित जोन मुख्यालय को पत्र भी भेज दिया गया है। इधर, एक दिन की जगह सप्ताह में तीन दिन अंग एक्सप्रेस का परिचालन बढ़ाने के फैसले से भागलपुर के अलावा मुंगेर और लखीसराय जिले के यात्रियों को काफी सहूलियत होगी।
दरअसल, जुलाई में भारतीय रेल की समय सारिणी में बदलाव होना है। बीते माह इंडियन रेलवे टाइम टेबल कमेटी-2019 की बैठक बोर्ड कार्यालय में हुई। इस बैठक में सभी जोन की ओर से नई ट्रेन का परिचालन और ट्रेनों के फेरे बढ़ाने संबंधित रिपोर्ट पर चर्चा हुई। इसमें दक्षिण पश्चिम रेलवे के अंतर्गत ट्रेन संख्या 12253/54 यशवंतपुर-भागलपुर साप्ताहिक एक्सप्रेस का फेरा बढ़ाने जाने का प्रस्ताव दिया गया। अभी इस ट्रेन का परिचालन भागलपुर से हर बुधवार और यशवंतपुर से शनिवार को हो रहा है। जेएडयूआरसीसी के पूर्व सदस्य आशुतोष कुमार ने बताया कि अंग एक्सप्रेस का फेरा बढ़ाने का प्रस्ताव दक्षिण पश्चिम रेलवे ने दिया है। नई समय सारिणी में इसे लागू होना है। फेरा बढ़ाए जाने से यात्रियों को सहूलियत होगी।
एक दिन चलने से हाउसफुल रहती है ट्रेन
अंग एक्सप्रेस का परिचालन अभी एक दिन हो रहा है। इस कारण यह ट्रेन हमेशा हाउसफुल रहती है। इसमें सफर करने के लिए यात्रियों को महीनों पहले आरक्षण कराना होता है। तब जाकर यात्रियों को इससे सफर करना नसीब होता है।
कई शहरों को जोड़ती है अंग एक्सप्रेस
अंग एक्सप्रेस जसीडीह, आसनसोल, हावड़ा, खडग़पुर, भुवनेश्वर, कटक, विशाखापतनम, विजयवाड़ा, बेंग्लुरु जैसे बड़े शहरों को जोड़ती है। यहां के छात्र-छात्राओं के लिए पसंदीदा ट्रेन है। एक ही दिन परिचालन होने से छात्र-छात्राओं के साथ-साथ आम यात्रियों को परेशानी होती है।
लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप
Posted By: Dilip Shukla
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
  
May 09 (22:17) 16 मई से एलएचबी रैक का मजा लेंगे अमरनाथ के पैसेंजर, जानिए... किस दिन चलती है यह ट्रेन (www.jagran.com)
0 Followers
3723 views

News Entry# 381828  Blog Entry# 4313194   
  Past Edits
May 09 2019 (22:17)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by jeetendrapoddar~/1561784

May 09 2019 (22:17)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by jeetendrapoddar~/1561784

May 09 2019 (22:17)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by jeetendrapoddar~/1561784
भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर से हर गुरुवार की रात जम्मूतवी जाने वाली अमरनाथ एक्सप्रेस का सफर 16 मई से और आरामदायक हो जाएगा। अगले गुरुवार से इस ट्रेन का परिचालन एलएचबी (लिंक हॉफमेन बुश) रैक से किया जाएगा। रेलवे ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। कोच बदलने का नोटिफिकेशन आ गया है। 14 को जम्मूतवी से खुलने वाली अमरनाथ एक्सप्रेस में एलएचबी रैक के साथ रवाना होगी। दरअसल, अभी अमरनाथ एक्सप्रेस का परिचालन आइसीएफ कोच (नीले रंग) से हो रही है। भागलपुर-किऊल रूट पर एलएचबी कोच का प्रयोग अभी अंग एक्सप्रेस, कामख्या-गया, एलटीटी एक्सप्रेस, नई दिल्ली साप्ताहिक, अजमेर और विक्रमशिला सुपरफास्ट में किया जा रहा है। उच्च स्तरीय तकनीक से लैस इस कोच में बेहतर शॉक एक्जावर का उपयोग होता है। इसलिए यात्रा काफी सुखद और आरामदायक होता है। रफ्तार के साथ सीटें भी बढ़ेंगी एलएचबी कोच लगने के बाद सभी श्रेणियों के कोच में बर्थ बढ़ेगी। इसमें स्लीपर में 81,...
more...
एसी थ्री में 72, एसी टू में 64 और जनरल में 106 सीटें हो जाएगी। साथ ही ट्रेन का अधिकतम रफ्तार 110 किलोमीटर प्रति घंटे की जगह 140 किमी हो जाएगी। गांधी धाम समर स्पेशल में बढ़ी बोगियां यात्रियों की भीड़ को देखते हुए प्रत्येक सोमवार भागलपुर से गांधीधाम के बीच चलने वाली समर स्पेशल में जनरल क्लास की तीन बोगियों को बढ़ाया गया है। बोगियां बढऩे से यात्रियों को काफी सहूलियत होगी। लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप Posted By: Dilip Shukla
भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर से हर गुरुवार की रात जम्मूतवी जाने वाली अमरनाथ एक्सप्रेस का सफर 16 मई से और आरामदायक हो जाएगा। अगले गुरुवार से इस ट्रेन का परिचालन एलएचबी (लिंक हॉफमेन बुश) रैक से किया जाएगा। रेलवे ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। कोच बदलने का नोटिफिकेशन आ गया है। 14 को जम्मूतवी से खुलने वाली अमरनाथ एक्सप्रेस में एलएचबी रैक के साथ रवाना होगी।
दरअसल, अभी अमरनाथ एक्सप्रेस का परिचालन आइसीएफ कोच (नीले रंग) से हो रही है। भागलपुर-किऊल रूट पर एलएचबी कोच का प्रयोग अभी अंग एक्सप्रेस, कामख्या-गया, एलटीटी एक्सप्रेस, नई दिल्ली साप्ताहिक, अजमेर और विक्रमशिला सुपरफास्ट में किया जा रहा है। उच्च स्तरीय तकनीक से लैस इस कोच में बेहतर शॉक एक्जावर का उपयोग होता है। इसलिए यात्रा काफी सुखद और आरामदायक होता है।
रफ्तार के साथ सीटें भी बढ़ेंगी
एलएचबी कोच लगने के बाद सभी श्रेणियों के कोच में बर्थ बढ़ेगी। इसमें स्लीपर में 81, एसी थ्री में 72, एसी टू में 64 और जनरल में 106 सीटें हो जाएगी। साथ ही ट्रेन का अधिकतम रफ्तार 110 किलोमीटर प्रति घंटे की जगह 140 किमी हो जाएगी।
गांधी धाम समर स्पेशल में बढ़ी बोगियां
यात्रियों की भीड़ को देखते हुए प्रत्येक सोमवार भागलपुर से गांधीधाम के बीच चलने वाली समर स्पेशल में जनरल क्लास की तीन बोगियों को बढ़ाया गया है। बोगियां बढऩे से यात्रियों को काफी सहूलियत होगी।
लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप
Posted By: Dilip Shukla
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
  
May 09 (22:14) स्टेशन पर पानी की किल्लत, सूख रहे यात्रियों के हलक (www.jagran.com)
0 Followers
3391 views

News Entry# 381827  Blog Entry# 4313191   
  Past Edits
May 09 2019 (22:14)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by jeetendrapoddar~/1561784

May 09 2019 (22:14)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by jeetendrapoddar~/1561784

May 09 2019 (22:14)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by jeetendrapoddar~/1561784

May 09 2019 (22:14)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by jeetendrapoddar~/1561784
मुंगेर। भागलपुर के लैलख-कहलगांव के बीच नन इंटरलॉकिग के कारण ट्रेनें रद होने से यात्री पहले से ही परेशान हैं। उसके बाद पानी किल्लत ने बड़ी मुसीबत पैदा कर दी है। मॉडल स्टेशन पर यात्रियों को पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। रेलवे का सप्लाई पानी गर्म होने के कारण पीने लायक नहीं है। ठंडा पानी के लिए लगाई गई आरओ मशीन ने भी काम करना बंद कर दिया है। एक ठंडे मशीन पर यात्रियों को प्यास बुझानी के लिए मारामारी करना पड़ रहा है। एक नंबर प्लेटफार्म पर फ्रीजर से पानी लेने के लिए यात्रियों का हुजूम उमड़ रहा है। यात्री दो और तीन नंबर से पानी लेने के लिए एक नंबर प्लेटफार्म पर आ रहे हैं। यात्रियों की इस परेशानी से रेलवे को कोई मतलब नहीं है। इससे यात्रियों में आक्रोश पनप रहा है। ---- रेलवे को सिर्फ राजस्व से मतलब, सुविधा पर ध्यान...
more...
नहीं स्टेशन पर भी पानी के लिए यात्रियों को तरसना पड़ रहा है। रेल प्रशासन की उदासीनता के कारण पेयजल की किल्लत उत्पन्न हुई है। प्लेटफार्म पर वाटर प्वाइंट तो दर्जनों हैं लेकिन कारगर गिनती के हैं। जहां ट्रेन रुकते ही यात्रियों की भीड़ जुट जा रही है। ठेलमठेल में यात्रियों के बीच तकरार भी हो रही है। एक प्वाइंट पर एक टोटी काम कर रहा है, शेष खराब है। ------ पानी के चक्कर में छूट जा रही गाड़ियां ट्रेनों के रूकते ही बोतलों में पानी भरने के लिए प्लेटफार्म पर यात्रियों की भीड़ लग जाती है। तीन नंबर और दो नंबर प्लेटफार्म से यात्री एक नंबर प्लेटफार्म पर पहुंचते हैं। ऐसे में कई बार पानी भरने के चक्कर में ट्रेन छूट जाती है। लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Jagran
मुंगेर। भागलपुर के लैलख-कहलगांव के बीच नन इंटरलॉकिग के कारण ट्रेनें रद होने से यात्री पहले से ही परेशान हैं। उसके बाद पानी किल्लत ने बड़ी मुसीबत पैदा कर दी है। मॉडल स्टेशन पर यात्रियों को पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। रेलवे का सप्लाई पानी गर्म होने के कारण पीने लायक नहीं है। ठंडा पानी के लिए लगाई गई आरओ मशीन ने भी काम करना बंद कर दिया है। एक ठंडे मशीन पर यात्रियों को प्यास बुझानी के लिए मारामारी करना पड़ रहा है। एक नंबर प्लेटफार्म पर फ्रीजर से पानी लेने के लिए यात्रियों का हुजूम उमड़ रहा है। यात्री दो और तीन नंबर से पानी लेने के लिए एक नंबर प्लेटफार्म पर आ रहे हैं। यात्रियों की इस परेशानी से रेलवे को कोई मतलब नहीं है। इससे यात्रियों में आक्रोश पनप रहा है।
----
रेलवे को सिर्फ राजस्व से मतलब, सुविधा पर ध्यान नहीं
स्टेशन पर भी पानी के लिए यात्रियों को तरसना पड़ रहा है। रेल प्रशासन की उदासीनता के कारण पेयजल की किल्लत उत्पन्न हुई है। प्लेटफार्म पर वाटर प्वाइंट तो दर्जनों हैं लेकिन कारगर गिनती के हैं। जहां ट्रेन रुकते ही यात्रियों की भीड़ जुट जा रही है। ठेलमठेल में यात्रियों के बीच तकरार भी हो रही है। एक प्वाइंट पर एक टोटी काम कर रहा है, शेष खराब है।
------
पानी के चक्कर में छूट जा रही गाड़ियां
ट्रेनों के रूकते ही बोतलों में पानी भरने के लिए प्लेटफार्म पर यात्रियों की भीड़ लग जाती है। तीन नंबर और दो नंबर प्लेटफार्म से यात्री एक नंबर प्लेटफार्म पर पहुंचते हैं। ऐसे में कई बार पानी भरने के चक्कर में ट्रेन छूट जाती है।
लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप
Posted By: Jagran
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
Page#    82 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy