Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

रेलफैनों को आता है ज़िन्दगी का मज़ा लेना

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Wed Jun 19 02:54:01 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Saurabh®^~

Page#    Showing 1 to 5 of 1012 news entries  next>>
  
Yesterday (13:50) टिकट दलालों ने बनाया ऐसा मोबाइल एप जिसमें चंद सेकंड में बन रहा कन्फर्म टिकट (www.bhaskar.com)
Crime/Accidents
SECR/South East Central
0 Followers
49 views

News Entry# 384479  Blog Entry# 4346007   
  Past Edits
Jun 18 2019 (13:50)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Raipur Junction/R  
गर्मी की छुट्टियों में जब आम यात्री रेलवे की टिकट खिड़की में घंटों लाइन में खड़े रहने के बावजूद कन्फर्म टिकट नहीं पा रहे हैं, तब महज कुछ मिनटों में दलाल ज्यादा कीमत पर कन्फर्म टिकट बेच रहे हैं। आरपीएफ ने जिन दलालों को पकड़ा है, उनसे पूछताछ में यह खुलासा हुआ है कि दलाल ऐसे मोबाइल एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर रहे हैं, जिसमें कुछ जानकारियां भरते ही बाकी जानकारियां ऑटोमेटिक जनरेट हो जाती हैं और 5 से 10 मिनट में कन्फर्म टिकट तैयार हो जाता है। यानी रेलवे या आईआरसीटीसी के मोबाइल एप्लीकेशन से टिकट बना रहे किसी व्यक्ति को जितना समय लगेगा, उससे बेहद कम समय में ही टिकट बन जाता है। तत्काल टिकट खिड़की के खुलने में जो कुछ मिनटों की देरी होती है, उसमें भी कई टिकटें बन जाती हैं। बता दें कि आरपीएफ के कमांडेंट अनुराग मीणा के निर्देश पर छापेमारी के बाद जो कंप्यूटर, सीपीयू...
more...
आदि बरामद हुए हैं, उसमें रैकेट की कारगुजारियों का खुलासा हुआ है। टिकट दलालों से 8 लाख से अधिक के टिकट मिले हैं। काउंटर टिकट और ई टिकट मिलाकर 411 टिकट मिले हैं।
मोबाइल से भी टिकट बनाकर दे रहे
कुछ टिकट दलाल मोबाइल में एप्लीकेशन डाउनलोड कर रखे हैं। ये पीआरएस सेंटर में रहते हैं। उनकी निगाहें टिकट लेने के लिए आने वाले लोगों पर टिकी रहती है। जैसे ही उन्हें लगता है कि फलां व्यक्ति टिकट लेने वाला है, उसके पास चले जाते हैं और मोबाइल से टिकट बनाकर दे देते हैं। आरपीएफ का कहना है कि ऐसे लोगों को पकड़ना मुश्किल है।
वेरिफिकेशन के लिए मिले हैं ईमेल आईडी
आईआरसीटीसी में टिकट दलालों की आईडी रजिस्टर्ड है। इसके अलावा कई ऐसे आईडी हैं, जिनमें निर्धारित संख्या की तुलना में अधिक टिकट बिके हैं। इसे देखते हुए आईआरसीटीसी ने रेलवे बोर्ड के माध्यम से प्रत्येक मंडल के कमांडेंट को संदिग्ध ईमेल आईडी चेक करने के लिए भेजा है। उसकी इन दिनों गुप्तचर शाखा के माध्यम से जांच चल रही है।
अलग-अलग नाम से बना रखे हैं आईडी
पकड़े गए लगभग सभी टिकट दलाल अलग-अलग नाम से पर्सनल आईडी बना रखे हैं। यात्रियों के आने पर अलग-अलग आईडी से टिकट बनाते हैं। इसके अनुसार कमीशन भी लेते हैं। पकड़े गए दलालों के पास कई लोगों का एडवांस टिकट भी मिला है, लेकिन पेमेंट सिर्फ एक ही खाते में होता रहा।
राजस्थान और मुंबई के दो एप मिले
रायपुर और ट्विनसिटी के टिकट दलालों के पास राजस्थान और मुंबई के टिकट दलालों के पास मिलने वाले टिकट एप मिले हैं। इसे लाल मिर्ची और मस्टीट्यूट के नाम से सेव कर रखे हुए हैं। इसमें एक बार डाटा फीड करने के बाद यह ट्रेनों के नाम और सीट की फीडिंग आटोमैटिक कर लेता है। बस इसमें यात्रियों के नाम ही लिखने होते हैं।
कमजोरी का फायदा उठाने में कभी पीछे नहीं रहते
अक्सर देखा गया है कि टिकट विंडो में बैठे क्लर्क निश्चित समय पर खिड़की खोलने की प्रक्रिया शुरू करते हैं। इसमें कम से कम एक दो मिनट और अधिकतम 7 से 8 मिनट लग जाते हैं। जब तक टिकट विंडो खुलता है और प्रॉपर रन करना शुरू करता है, तब तक टिकट दलाल टिकट ले चुके होते हैं और आम यात्रियों को टिकट नहीं मिल पाता।
  
Yesterday (13:47) ट्रेनों में अब गर्भवती महिलाओं के लिए रहेगी डिलीवरी किट (www.bhaskar.com)
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
0 Followers
391 views

News Entry# 384478  Blog Entry# 4346006   
  Past Edits
Jun 18 2019 (13:47)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
ट्रेनों में यात्रा के दौरान महिलाओं को प्रसव पीड़ा होने और डिलीवरी होने की घटनाओं को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने उनके लिए सुविधाएं जुटाने की तैयारी कर ली है। अब ट्रेनों में मेडिकल किट के साथ डिलीवरी किट भी रखी जाएंगी। अगले एक पखवाड़े में सभी ट्रेनों में ये इंतजाम कर लिए जाएंगे। यात्रा के दौरान महिला को प्रसव पीड़ा होने पर टीटीई को जानकारी देना होगी। गौरतलब है कि मौजूदा स्थिति में ट्रेन में किसी महिला को प्रसव पीड़ा होने की जानकारी मिलने पर टीटीई कंट्रोल रूम को सूचना देते हैं।
  
Yesterday (13:46) बाराद्वार फाटक आज रात बंद रहेगा (www.bhaskar.com)
Other News
SECR/South East Central
0 Followers
374 views

News Entry# 384477  Blog Entry# 4346004   
  Past Edits
Jun 18 2019 (13:46)
Station Tag: Baradwar/BUA added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Baradwar/BUA  
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर मंडल के अंतर्गत बाराद्वार यार्ड स्थित मानव सहित समपार संख्या 328 बाराद्वार फाटक को 18 जून को रात 10 बजे से 19 जून को प्रातः 08.00 बजे तक वार्षिक मरम्मत काम हेतु सड़क यातायात के लिए बंद रखा जाएगा।
  
Yesterday (13:45) रेलवे स्टेशन: ये कैसा वेटिंग हाल है साहब! पंखे भी नहीं चल रहे हैं और चेयर भी टूटी हुई है (www.bhaskar.com)
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
0 Followers
387 views

News Entry# 384476  Blog Entry# 4346003   
  Past Edits
Jun 18 2019 (13:45)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
दोपहर की गर्मी में हरियाणा के एक ज्यादा को गुस्सा आ गया। तमतमाए हुए वे स्टेशन डायरेक्टर के कक्ष में पहुंचे और कहा ये कैसा स्टेशन है साहब? वेटिंग हाल में पंखे नहीं चल रहे हैं। बैठने की चेयर भी टूटी हुई है। यह हाल है जोनल रेलवे स्टेशन के द्वितीय श्रेणी वेटिंग हाल की।
दोपहर 2 बजे रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर स्थित स्टेशन डायरेक्टर किशोर निखारे के पास हरियाणा के रहने वाले बलवंत सिंह पहुंचे। स्टेशन डायरेक्टर से पूछा यात्रियों के लिए यहां कोई व्यवस्था है कि नहीं। वेटिंग हाल में पंखे नहीं चल रहे हैं। चेयर भी टूटी हुई है। गर्मी के कारण यात्री परेशान हो रहे हैं। इतना सुनते ही स्टेशन डायरेक्टर निखारे ने पूछा
...
more...
कहां की बात कर रहे हैं तो बलवंत सिंह ने बताया कि एसी वेटिंग हाल से पहले वाले वेटिंग हाल की। चल के देख लें क्या व्यवस्था है। स्टेशन डायरेक्टर वहां पहुंचे तो उन्हें चार पंखे बंद मिले। एक चेयर भी टूटी हुई थी फिर भी उस पर कुछ यात्री बैठे हुए थे क्योंकि उनके बैठने के लिए कोई और जगह खाली नहीं थी। स्टेशन डायरेक्टर ने तत्काल अपने मातहत कर्मचारी को निर्देशित किया कि इलेक्ट्रिशियन बुलवाकर पंखों की जांच कराएं। क्योंकि सुबह तक तो सभी पंखे चल रहे थे। कर्मचारियों ने बोर्ड के सभी बटन चलाकर देखे फिर भी पंखे नहीं चले। बलवंत सिंह को 2.30 बजे छत्तीसगढ़ संपर्कक्रांति एक्सप्रेस से दिल्ली जाना था। वेटिंग हाल में काफी भीड़ थी उन्हें बैठने के लिए जगह नहीं मिली थी।
स्टेशन के वेटिंग हाल में पंखे बंद रहने से परेशान यात्री।
  
अब जर्जर कोच वाली पैसेंजर ट्रेनों के दिन लदने वाले हैं। इसकी जगह अब रेलवे ट्रैक पर इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट (ईएमयू) वाली ट्रेन चलेंगी। लोकल ट्रेन की तरह हर स्टेशन पर स्टॉपेज होने के बावजूद ये सुपर फास्ट ट्रेन की रफ्तार से चलेंगी। प्रत्येक कोच सेल्फ प्रोपेल्ड इलेट्रिक इंजन वाली अंडरस्लंग तकनीक पर तैयार की गई है। यानी इस ट्रेन के कल-पुर्जो की फिटिंग कोच के निचले हिस्से में की गई है। चेन्नई स्थित इंटीग्रल रेल कोच फैक्ट्री ने एरोडायनेमिक ईएमयू ट्रेन तैयार कर ली है। इस ट्रेन के ट्रायल रन का पूरा खाका रेल मंत्रालय ने तैयार कर लिया है। पश्चिमी रेलवे में इस ट्रेन का ट्रायल रन जल्द ही पूरा किया जाएगा। 12 कोच वाली इस ट्रेन में उन तकनीकों का प्रयोग किया गया है जैसा ट्रेन-18 में किया गया था। इसकी औसत रफ्तार सामान्य ईएमयू ट्रेनों से 40-50 प्रतिशत तक अधिक होगी। ईएमयू ट्रेन का पंखा व लाइट...
more...
सौर ऊर्जा चलेगा। मुंबई लोकल ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों को ध्यान में रख इसे तैयार किया गया है। अधिक भीड़ होने पर भी यात्री आसानी से खड़े होकर सफर कर सकेंगे। रेल हादसों को ध्यान में रखते हुए इस ट्रेन में विशेष व्यवस्था की गई है। ट्रेन के सभी कोच आपस में जुड़े हुए है। कोच के बीच में कोई मोटर कोच नहीं होगा। मेट्रो की तर्ज पर मोटर कोच आगे और पीछे लगाए गए हैं। सभी कोच आपस में कनेक्ट होंगे। इसकी वजह से ट्रेन में शोर भी कम होगा। सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में यात्री सफर करेंगे। मेमू ट्रेन की क्षमता 2402 यात्रियों की है। नई ईएमयू ट्रेन में 2618 यात्री सफर कर सकेंगे। ट्रेनो की गति बढ़ाने में इस तकनीक को बड़ा कदम बताया जा रहा है। सभी रेल लाइन के विद्युतिकरण के बाद पैसेंजर ट्रेनों की जगह इसी तकनीक वाली ट्रेनें चलेंगी।
Page#    1012 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy