Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Bookmark
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Tue Jan 22 10:24:52 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    352948 news entries  next>>
  
Today (08:32) Good News: सहरसा-सरायगढ़ के बीच मार्च तक ट्रेन सेवा, DRM ने की घोषणा (m.livehindustan.com)
New Facilities/Technology
ECR/East Central
0 Followers
528 views

News Entry# 374460  Blog Entry# 4203779   
  Past Edits
Jan 22 2019 (08:32)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by amishkumar~/1702584
Stations:  Saharsa Junction/SHC  
सहरसा-सरायगढ़ ब्रॉडगेज का फरवरी में सीआरएस निरीक्षण होगा। सीआरएस से हरी झंडी मिलने के बाद ट्रेनों का परिचालन शुरू होगा। इसी साल मार्च में सहरसा-सरायगढ़ के बीच ट्रेन चलाने की योजना है। समस्तीपुर मंडल के डीआरएम आरके जैन ने सोमवार को सहरसा स्टेशन पर चल रहे एनआई और आमान परिवर्तन निरीक्षण के बाद यह बातें कही।डीआरएम ने कहा कि इसी महीने इंटरलॉकिंग का कार्य शुरू होगा। उन्होंने कहा कि सीआरएस द्वारा गढ़बरूआरी निरीक्षण के क्रम में बनमनखी बड़हरा कोठी रेलखंड का भी निरीक्षण करने की संभावना है। डीआरएम ने कहा कि नवनिर्मित तीन प्लेटफार्म का निर्माण कार्य शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा। अब कुल पांच प्लेटफार्म के होने से गाड़ियों के परिचालन में किसी तरह की कोई दिक्कतें नहीं होगी।उन्होंने कहा कि नवनिर्मित प्लेटफार्म का नई व्यवस्था के तहत नॉन इंटरलॉकिंग किया जाएगा। इसके बाद नये प्लेटफार्म से ट्रेनें चलने लगेंगी। इंटरलॉकिंग के दौरान सभी ट्रेनों का परिचालन में विलंब होने...
more...
की संभावना रहेगी। इस दौरान दो तीन दिनों के लिए कुछ ट्रेनों को भी रद्द किया जा सकता है। नॉन इंटरलॉकिंग कार्य पूरा होने पर सरायगढ़ तक काम को गति दी जाएगी।उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में सहरसा स्टेशन पर सौन्दर्यीकरण के लिए तोड़फोड़ कर सर्कुलेटिंग एरिया का विकास किया जा रहा है। आने वाले समय में सहरसा स्टेशन सबसे सुंदर व अच्छा स्टेशन बनेगा। डीआरएम ने कहा कि फुट ओवरब्रिज को 20 फीट चौड़ा किया जा रहा है। यार्ड की री-मॉडलिंग कार्य चल रहा है। बुकिंग ऑफिस, पार्सल ऑफिस आदि को प्लेटफार्म एक पर शिफ्ट किया जाएगा। पूर्णिया रूट में भी और ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जाएगी।डीआरएम के निरीक्षण के दौरान सीनियर डीईएन थ्री मयंक अग्रवाल, सीनियर डीएसटीई अभिषेक कुमार, डिप्टी चीफ इंजीनियर डी एस श्रीवास्ताव, डीसीएम आशुतोष शरण, असिस्टेंट कमांडेंट ए. के. शाही, डीआरएम के पीए पप्पूजी, स्टेशन डायरेक्टर प्रेम कुमार, एडीईएन मनोज कुमार, डीसीआई राजेश रंजन श्रीवास्तव, स्टेशन अधीक्षक अरूण कुमार, डीएमओ डा. अनिल कुमार, एएनई आलोक कुमार सिंह, टेलीकॉम इंस्पेक्टर अमित कुमार सुमन, इंस्पेक्टर सारनाथ व अन्य थे।
  
Jan 08 (21:58) DLW की बड़ी उपलब्धि, बिजली के इंजन बनाने का पूरा किया शतक (m.patrika.com)
New Facilities/Technology
0 Followers
5036 views

News Entry# 373471  Blog Entry# 4191213   
  Past Edits
Jan 08 2019 (21:58)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by 🎂🎂Hᴀᴘᴘʏ Bɪʀᴛʜᴅᴀʏ😍Aмαʀкαηтαк😍SF Exᴘʀᴇꜱꜱ🎂🎂^~/1769309
Stations:  Itarsi Junction/ET  
वाराणसी. डीजल रेल इंजन वर्कशॉप ने बिजली के इंजन बनाने का शतक पूरा कर नया कीर्तिमान बनाया है। यह इंजन सोमवार को राष्ट्र को समर्पित कर दिया गया। इसके साथ ही आज ही इस इंजन को पश्चिम मध्‍य रेलवे के इटारसी विद्युत लोको शेड को भेज दिया गया।रेलवे बोर्ड के सदस्य कर्षण घनश्‍याम सिंह ने सोमवार को डीजल रेल इंजन कारखाना से तैयार 100वें विद्युत रेल इंजन डब्‍ल्‍यूएपी-7 ‘शतक’ को महाप्रबंधक रश्मि गोयल एवं जनवरी में सेवानिवृत्‍त होने वाले उत्‍पादन से जुड़े डीरेका के सात कर्मचारियों के साथ झंडी दिखाकर लोकार्पित किया।। इसके पूर्व उन्‍होंने महाप्रबंधक और अन्‍य प्रमुख अधिकारियों के साथ इस रेल इंजन के ड्राइवर कैब का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने इस रेल इंजन से संबंधित महत्‍वपूर्ण तकनीकी जानकारी हासिल की। अब यह 6000 अश्‍व शक्ति डब्‍ल्‍यूएपी-7 रेल इंजन संख्या- 37073 को पश्चिम मध्‍य रेलवे के इटारसी विद्युत लोको शेड को भेजा जा रहा है।इस अवसर पर सदस्‍य...
more...
कर्षण ने डीरेका कर्मियों को नव वर्ष की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि डीरेका बाबा विश्‍वनाथ की नगरी का वह नगीना है, जो सम्‍पूर्ण विश्‍व में चमक बिखेर रहा है। उन्‍होंने डीरेका कर्मियों का उत्‍साहवर्धन करते हुए कहा कि परिवर्तन को आत्‍मसात करने वाला ही संसार बदलता है, जिस प्रकार डीरेका ने हरित ऊर्जा को आगे बढ़ाते हुए विद्युत रेल इंजनों के उत्‍पादन का ‘शतक’ पूरा किया, इससे पता चलता है कि भारतीय रेल की यह उत्‍पादन इकाई डीरेका विदेशों पर निर्भर न रहकर रेल इंजन उत्‍पादकता में विश्‍व के अग्रणी उत्‍पादन इकाई के रूप में उभर रहा है। यह नि:संदेह भारत को विश्‍व गुरू बनाने की दिशा में अग्रसर है। उन्‍होंने डीरेका की संभावनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भविष्‍य में डीरेका 55 से 60 रेल इंजन प्रतिमाह उत्‍पादन करने में सक्षम होगा।डीरेका कर्मियों की इस महान उपलब्धि से अभिभूत होकर सदस्‍य कर्षण ने `50,000 रुपये का सामूहिक पुरस्‍कार प्रदान करने के साथ ही साथ रेल इंजन निर्माण से जुड़े जनवरी माह में सेवानिवृत्‍त होने वाले सात कर्मचारियों एवं चालक दल को 5,000-5,000 रुपये पुरस्‍कार की घोषणा भी की।सदस्‍य कर्षण और डीरेका कर्मियों का स्‍वागत करते हुए महाप्रबंधक रश्मि गोयल ने विद्युत रेल इंजन उत्‍पादन के इतिहास से उपस्थित लोगों को अवगत कराया। उन्‍होंने कहा कि भारतीय रेल को विद्युत कर्षण पर बदलने की दिशा में सरकार की नीति के अनुसार 06 माह की अल्‍प अवधि के अंदर डीरेका ने बुनियादी ढांचे, मशीनों, प्रक्रियाओं को नवोन्‍मेष एवं री-इंजीनियरिंग द्वारा तैयार किया तथा तकनीशियनों को इन-हाउस प्रशिक्षण दिया गया । इन प्रयासों के साथ, डीरेका ने फरवरी, 2017 में अपने पहले विद्युत रेल इंजन का निर्माण किया। 2016-17 में मात्र 02 विद्युत रेल इंजन निर्माण की छोटी सी शुरूआत के साथ, 2017-18 में उत्पादन धीरे-धीरे बढ़कर 25 रेल इंजन तक पहुंच गया। डीरेका ने दिसंबर 2018 से विद्युत रेल इंजनों की उत्पादन क्षमता को 18 रेल इंजन प्रति माह तक बढ़ा दिया है। डीरेका द्वारा 2018-19 के दौरान अब तक 77 विद्युत रेल इंजन का निर्माण किया गया है। दिसंबर 2018 तक डीरेका ने कुल 104 विद्युत रेल इंजनों का निर्माण किया है। उन्‍होंने सदस्‍य कर्षण को रेलवे बोर्ड द्वारा निर्धारित लक्ष्‍य के अनुसार विद्युत रेल इंजन के उत्‍पादन के प्रति आश्‍वस्‍त किया। इस अवसर पर बड़ी संख्‍या में विभागाध्‍यक्ष, अधिकारी, कर्मचारी परिषद् के सदस्‍य एवं कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन उप मुख्‍य यांत्रिक इंजीनियर, लोको ने किया।

  
Congrats💐💐
welcome the new member of itarsi loco shed
Itarsi 'Sʜᴀᴛᴀᴋ' 😍😍😍
इटारसी 'शतक'😘😘

  
Jan 08 (22:15)
SpiceJet🌶️JLR 🔛 CCU✈️^~   6406 blog posts   4375 correct pred (63% accurate)
Re# 4191213-2            Tags   Past Edits
1 compliments
🔥🔥🔥🔥
⚡प.म.रेे.🔶शतक🔶इटारसी⚡

  
3126 views
Jan 09 (12:36)
waitingforJBPGSATPURASF~   5646 blog posts   45 correct pred (51% accurate)
Re# 4191213-3            Tags   Past Edits
wow ET will get another WAP 7 and the special one also
  
Today (01:46) Rail hero risks life to get train running - The Hindu (www.thehindu.com)
Other News
SCR/South Central
0 Followers
1251 views

News Entry# 374453  Blog Entry# 4203728   
  Past Edits
Jan 22 2019 (01:46)
Station Tag: Singarayakonda/SKM added by Rahul V^~/1874965

Jan 22 2019 (01:46)
Station Tag: Tanguturu/TNR added by Rahul V^~/1874965

Jan 22 2019 (01:46)
Train Tag: Howrah - Ernakulam Antyodaya Express/22877 added by Rahul V^~/1874965

Jan 22 2019 (01:46)
Train Tag: Howrah - Ernakulam Antyodaya Express/22877 added by Rahul V^~/1874965
An assistant loco pilot’s (ALP) bravery and presence of mind helped avert disruption of train services on the busy Vijayawada-Renigunta section and in the process also helped passengers on the Howrah-Ernakulam Anthyodya Express (22877) to reach their destination on time.
Senior SCR officials informed on Monday that unknown miscreants resorted to alarm chain-pulling and stopped the Anthyodya Express on Bridge No.553 at 3.10 p.m. between Tanguturu and Singarayakonda sections. To restore normal train movement, the railway staff generally reach the coach in question and reset the pull chain. However, since it occurred on a bridge, there was no path to walk up to and reach the coach. There was no provision of vestibule facility to reach the coach from inside the train
...
more...
which had LHB general second class coaches.
But ALP R.K. Jha started crawling from the loco underneath and LHB coaches to reach the affected coach, located tenth from the loco. He reached the coach but was unable to reset the knob from inside due to the crowd, so he once again crawled underneath to put the pull alarm back and allow the train to start.
In the meantime, train guard R. Viswanath arranged for an earth-moving machinery available near the bridge for new line construction and that allowed Mr. Jha to reach the ground and get onto the loco instead of having to crawl back. DRM-Guntakal Vijay Pratap Singh appreciated loco pilot M. Sridhar, Mr. Jha and Mr. Viswanath for their efforts to help resume the journey within a short period.
  
रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) ने एडवांस टिकट बुकिंग के नियमों में बदलाव किया है। पहले से बुक टिकट में अभिभावक अब बच्चों का नाम जुड़वा सकेंगे। हालांकि बच्चों को ट्रेन में बर्थ या सीट नहीं मिलेगी और शताब्दी एक्सप्रेस में यह नियम लागू नहीं होगा।अभी तक ऐसी सुविधा नहीं थी। बच्चों का नाम जुड़वाने के लिए एडवांस में खरीदा गया टिकट रद्द कराकर नया टिकट खरीदना पड़ता था। रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चार माह पहले एडवांस टिकट बुकिंग में यात्रियों को कन्फर्म टिकट मिल जाता है। लेकिन पांच से 12 साल तक के बच्चों को उक्त कन्फर्म टिकट में शामिल कराने की सुविधा नहीं थी। ऐसा करने के लिए यात्री को अपना कन्फर्म टिकट रद्द करा कर नया टिकट खरीदना पड़ता था। इसमें पीएनआर (पैसेंजर नेम रिकार्ड) बदलते ही कन्फर्म सीट या बर्थ चली जाती थी और ट्रेनों में भारी भीड़ के कारण यात्री को वेटिंग...
more...
टिकट ही मिलता था।उन्होंने बताया, टिकट बुकिंग के नियमों में बदलाव से यह मुश्किल दूर हो जाएगी। हालांकि पहले से बुक टिकट में बच्चों का नाम जुड़वाने पर बच्चों को ट्रेन में बर्थ या सीट नहीं मिलेगी। शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के चेयरकार एसी-1 में यह नियम नहीं लागू होगा। विकल्प योजना में भी यह नियम लागू नहीं होगा। इसमें रेलवे दूसरी ट्रेन में खाली बर्थ उन यात्रियों को आवंटित कर देती है जिनका टिकट वेटिंग है।IRCTC पर टिकट बुक करते समय नहीं करें ये गलती, नहीं तो कट जाएंगे पैसेअधिकारी ने कहा, इसके अलावा अभिभावक, माता-पिता अथवा सहायक की संख्या के हिसाब से ही बच्चों को एडवांस टिकट में जोड़ा जा सकेगा। यानी जितने बालिग यात्री होंगे उतनी ही संख्या में बच्चों को जोड़ा जा सकेगा। विदित हो कि रेलवे ने नया नियम अक्तूबर 2018 में लागू कर दिया था। टिकट में नाम जुड़वाने का काम ऑनलाइन या रेल काउंटर के जरिये किया जा सकेगा।
  
Today (07:27) इस रेलवे ट्रैक से गुजरनी थी राजधानी एक्सप्रेस, लाइन में मिला फै्रक्चर, यूं टला बड़ा हादसा (m.patrika.com)
0 Followers
755 views

News Entry# 374455  Blog Entry# 4203755   
  Past Edits
Jan 22 2019 (07:27)
Station Tag: Kanakpura/KKU added by 🕉️प्रयागराज कुम्भ 2019⛳^~/1084688

Jan 22 2019 (07:27)
Train Tag: Swarna Jayanti Rajdhani Express/12957 added by 🕉️प्रयागराज कुम्भ 2019⛳^~/1084688
सिंवार मोड़/ दूदू/ जयपुर। जयपुर-फुलेरा रेलवे मार्ग के कनकपुरा रेल्वे स्टेशन के पास डाउन लाईन के किलोमीटर 249/4-5 पर रविवार देर रात 1.30 बजे मालगाड़ी गुजरते हुए रेल लाइन में फ्रेक्चर होने से बड़ा हादसा टल गया। जिससें डेढ़ घण्टे तक रेल मार्ग ठप्प रहा। स्टेशन पर ड्यूटी पर तैनात कनकपुरा आरपीएफ चौकी हैड कांस्टेबल दशरथ कुमार को मालगाड़ी गुजरते समय तेज घड़घड़ाहट की आवाज सुनाई दी। रेलवे ट्रैक पर जाकर देखा तो लाइन में बड़ा फ्रेक्चर था। जिसकी सूचना कनकपुरा आरपीएफ चौकी प्रभारी शिम्भुदयाल गुर्जर, रेलवे नॉर्थ के सीनियर सेक्शन इंजीनियर विनीत शर्मा, स्टेशन मास्टर को जानकारी देकर टे्रनों को रोका गया। जिसके चलते राजधानी एक्सप्रेस को डेढ़ घण्टे तक मेन लाइन पर खड़ी रखा गया।  हैड कांस्टेबल दशरथ कुमार की सूझबूझ से बड़ा हादसा टला। सूचना पर मौके पर रेलवे इंजीनियर ने पहुंचकर लाइन को दुरूस्त किया। रेलवे सुरक्षा बल के जवान भी मौके पर पहुंच गए। बाद में टे्रक...
more...
की मरम्मत का कार्य शुरू हुआ। फ्रेक्चर बड़ा होने के कारण रेल प्रशासन को नई पटरी लगानी पड़ी। फ्रेक्चर के बाद ट्रैक सुचारू होने पर रेलवे ने यहां से ट्रेनों को धीमी गति से निकाला गया। रेलवे नॉर्थ के सीनियर सेक्शन इंजीनियर विनीत शर्मा ने बताया कि रात्रि में 1.30 बजे लाइन में करीब 230 एमएम का फे्रक्चर हो गया था, राजधानी एक्सप्रेस को डेढ़ घण्टे तक मेन लाइन पर खड़ी रखा गया। इस पर से ट्रेन गुजरती तो यहां हादसा हो सकता था।
Page#    352948 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy